Ghost stories

दोस्तों  आज  की कहनी एक बहु की है जिसे दहेज़ के  लालच मैं ससुराल वालों नै मार डाला। हिमाचल  के एक गांव का यह किस्सा है , एक गरीब घर की लड़की का अच्छे घर मैं रिश्ता हो गया तो परिवार वाले बहुत कुश हो गए और अपनी साड़ी जमीन गिरवी रख दी  ताकि लड़की की शादी मैं कोई कमी ना रह जाये  . शादी  धूम धाम से हुई और किसी चीज़ की कमी महसूस नहीं हुई।  शादी के  कुछ दिनों बाद  ही  लड़की को उसके ससुराल वाले  परेशान करने  लग पड़े। और इतने हद्द तक परेशान कर दिया की उसने अपनी जान दे दी।  बड़ी शर्म वाली बात है की आज भी दहेज़ के लिए लोग ऐसी हरकते करते हैं।  पर जीत हमेशा अच्छाई की ही होती है। अपनी जवान बेटी की मौत की खबर सुन कर लड़की के माँ बाप बड़े दुखी हो गए और उन्होने अपनी लड़की को उसके ससुराल वाले घर मैं ही  उसका अंतिमसंस्कार करने का फैसला लिया। और उनके आंगन मैं ही अंतिमसंस्कार कर दिया।  लड़की के माँ बाप नै ससुराल वालो को धमकाते हुए कहा इसका अंजाम अच्छा नहीं होगा और वहां से चले गए. लड़की की मौत को अभी चार दिन हुए थे और ससुराल वालो को रात को होने आँगन मैं किसी के रोने की आवाज़ सुनाई देने लगी और  साथ मैं आवाज़ आती की तुमने मेरे साथ अच्छा नहीं किया। ससुराल  वाले घबरा गए क्यूंकि उन्हे आस पास कोई नहीं धिक्ता पर हर  रोज़ रात को आठ बजे वही रोने की आवाज़ आती। ससुराल वाले बुरी तरह परेशान हो गए  पर गांव का कोई इंसान भी इनसे हमदर्दी नहीं रखता था और ना ही इनसे कोई बात करना पसंद करता था।  इनके मदद मांगने पर किसी नै भी दिलचस्पी नहीं दिखाई और कहते अपनी करनी भुक्तो अब्ब।  

सात आठ दिन ऐसे ही बीत गए पर दसवे दिन उन्हे अपनी बहु आंगन मैं बैठ कर रोटी दिखाई देती और जान से मार देने की धमकी देती। अब्ब इनसबकी हालत ख़राब हो गयी और घर से भागने की बात करने लगे और सुबह  ही   छोड़ने  का  फैसला किया।  सुबह जब जाने लगे तो सामने इनकी बहु कड़ी थी और कहने लगी मैं तुम सब को मार दूंगी।  अब्ब  इनको अपनी गलती का एहसास हुआ और उससे माफ़ी मांगने लगे।  पर इनकी बहु कहती अब माफ़ी मांगने का कोई फायदा नहीं है मैं तुम्हे मार दूंगी। सभी मिलकर वहां से भागने लगे और जैसे दरवाजा खोलते  १ मीटर पीछे जाकर  गिरते। हालत इतनी ख़राब हो चुकी थी की खाना  पीना   सब  बंद  हो गया।  रेहम की भीख  मांगते पर गुनाह ऐसा था की माफ़ी के  लायक नहीं।  फिर अगली  सुबह जब  उनके  घर से कोई अव्वाज़ नहीं आयी पड़ोस वाले उनके घर  आए और जो देखा  डरावना था , परिवार  सारे लोग मर चुके थे और उनके शरीर मैं ऐसे निशान जैसे किसी जानवर नै बुरी तरह से उनपर वार किया हो , नाखून के निशाँ भी थे।  गांव वाले जानते थे की क्या हुआ है, पुलिस और फिर काफी दिनों तक कातिल की तलाश करती रही पर वो नहीं जानते थे की इनका कातिल कभी किसी के हाथ नहीं आ सकता था।  इसके बाद उस घर  मैं पूजा की गयी और आत्मा शांति का पूजन किया गया , उस दिन के  बाद वहां  हादसा  नहीं नहीं हुआ।